निवेशक शिक्षा एवं जागरूकता के लिए तीन दिवसीय आवासीय प्रशिक्षण कार्यशाला का शुभारंभ

 


भीलवाड़ा BHN

युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय भारत सरकार के अधीन नेहरू युवा केंद्र भीलवाड़ा निवेशक शिक्षा और सरंक्षण निधि प्राधिकरण-कॉर्पाेरेट मामले मंत्रालय, भारत सरकार के संयुक्त तत्वाधान में ग्रामीण युवाओ को निवेशक शिक्षा, जागरूकता और संरक्षण में युवाओं की भागीदारी पर ब्लॉक स्तरीय तीन दिवसीय आवासीय प्रशिक्षण कार्यशाला का शुभारंभ कोटडी में हुआ।
कार्यक्रम के मुख्य अतिथि सांसद श्री सुभाष चंद्र बहेडिया एवं कार्यक्रम अध्यक्ष जिला युवा अधिकारी सुमित यादव रहे। कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि रेडक्रॉस सोसायटी के सचिव रमेश चंद्र मूंदड़ा, लघु उद्योग प्रकोष्ठ प्रदेश संयोजक प्रशांत मेवाड़ा, शिविर संयोजक दिनेश कुमार धाकड़ रहे।
मुख्य अतिथि कॉर्पाेरेट मामलों के विशेषज्ञ एवं भीलवाड़ा सांसद सुभाष चंद्र बहेड़िया ने अपने विचार व्यक्त करते हुए फ्रॉड कंपनियों से बचकर सरकारी योजनाओं में अपना निवेश करने के साथ-साथ युवाओं को अन्य लोगों को जागरूक करने एवं शेयर मार्केट, बजट आदि को समझ कर देश के विकास में योगदान देने के लिए युवाओं को प्रेरित किया। उन्होंने कहा कि निवेश करने से पूर्व उसकी समझ एंव जानकारी रखना अत्यंत आवश्यक है एवं अपने परिश्रम से अर्जित पूँजी को फ़र्जी स्कीम में निवेश करने से बचें एवं अपने साथ ही अन्य ग्रामीणों को भी इस विषय पर जागरूक करें।
कार्यक्रम के अध्यक्ष युवा अधिकारी सुमित यादव ने तीन दिवसीय कार्यक्रम की रूपरेखा बताते हुए कार्यक्रम में सक्रिय रूप से भाग लेकर सभी युवाओं को जागरूक रहने को कहा तथा कार्यक्रम से जो सीख लेकर जायेंगे उसे अधिकतम लोगों तक पहुँचाने के लिए प्रेरित किया। जिला रेड क्रॉस सोसाइटी सचिव ने वित्तीय जोखिम के बारे में बताते हुए युवाओं को अपने आसपास के लोगों को वित्तीय साक्षरता हेतु प्रेरित रहने एवं रेड क्रॉस सोसाइटी के योगदान के बारे में बताया।
तीन दिवसीय कार्यक्रम में विभिन्न बैंकों, चार्टर्ड अकाउंटेंट, पोस्ट ऑफिस एवं कॉर्पाेरेट मामलों के जानकार विशेषज्ञों द्वारा व्याख्यान दिए जाएंगे साथ ही रैली नारा लेखन एवं भ्रमण के माध्यम से वित्तीय जोखिमों से लोगों को जागरूक करने हेतु इस तीन दिवसीय प्रशिक्षण शिविर में जानकारियां दी जाएगी। कोटडी ब्लॉक के 80 युवा इस प्रशिक्षण में भाग ले रहे हैं।
 

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना