अजमेर से जघन्य हत्याकांड की 31 साल पुरानी रंजिश का लिया ऐसा बदला, शादी वाले घर में पसरा मातम

 


 अजमेर से जघन्य हत्याकांड की घटना सामने आई है। आज दोपहर करीब 2:00 बजे के आसपास अजमेर में दिनदहाड़े कुछ बदमाशों ने दो बुजुर्ग लोगों पर अंधाधुंध फायरिंग की। उनमें एक बुजुर्ग की मौत हो गई और दूसरे की हालत गंभीर है। इस हत्याकांड के बाद पुलिस ने कुछ लोगों को हिरासत में लिया है। उनसे पूछताछ की जा रही है। जिस व्यक्ति की मौत हुई है वह पूर्व पार्षद थे और 10 दिन बाद उनके बेटे की शादी होने वाली थी। शादी की खुशियों के बीच अब घर में लाश पहुंची है।

बचने के लिए दौड़े पर मौत ने नहीं छोड़ा पीछा
पुलिस ने बताया कि पूर्व पार्षद सवाई सिंह और उनके दोस्त दिनेश तिवारी अजमेर के पलटन बाजार के रहने वाले हैं। वह आज दोपहर में बसेली गांव में स्थित युवराज रिसोर्ट के पास बैठे हुए थे। इसी दौरान बाइक पर दो बदमाश आए और उन्होंने फायरिंग शुरू कर दी। दोनों दोस्त बचने के लिए वहां से दौड़े लेकिन बच नहीं सके।

बदमाशों ने सिर पर मारी गोली,  दोस्त भी हुआ घायल
सवाई सिंह के सिर में गोलियां मार दी गई और दिनेश तिवारी के पैर और पेट में गोली लगी है । तिवारी को जेएलएन अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उधर सवाई सिंह की मौके पर ही मौत हो गई। पुलिस ने बताया कि हत्याकांड के बाद सूर्य प्रताप सिंह नाम के एक आरोपी को हिरासत में लिया है। सूर्य प्रताप के पिता की करीब 31 साल पहले गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। इस हत्या के आरोप में सवाई सिंह  को भी गिरफ्तार किया गया था। लेकिन बाद में वह बरी हो गए थे।

पुलिस को डर सता रहा, बिगड़ ना जाए शहर का माहौल
सूर्य प्रताप ने पिता की मौत का बदला सवाई सिंह के बेटे की शादी से ठीक 10 दिन पहले लिया है। इस हत्याकांड के बाद अजमेर का माहौल खराब होने का डर है। कई थानों की पुलिस मौके पर मौजूद है । पुलिस एक अन्य आरोपी की तलाश कर रही है । उधर सवाई सिंह की लाश मुर्दाघर में रखी गई है। परिजनों का रो रो कर बुरा हाल है । 

शादी वाले घर में पसरा मातम
पुलिस ने बताया कि सवाई सिंह के बेटे  की शादी 16 जनवरी को युवराज रिसोर्ट में है।  दोनों दोस्त आज शादी की तैयारियों का जायजा लेने के लिए ही रिपोर्ट में गए थे । लेकिन इस दौरान या हत्याकांड को अंजाम दिया गया । उल्लेखनीय है कि करीब 31 साल पहले सूर्य प्रताप सिंह के पिता मदन सिंह की श्रीनगर रोड पर गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।  हत्या के आरोप में सवाई सिंह समेत कुछ लोगों को गिरफ्तार किया गया था। लेकिन उनमें से अधिकतर बाद में बरी हो गए थे।

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

मुंडन संस्कार से पहले आई मौत- बेकाबू बोलेरो की टक्कर से पिता-पुत्र की मौत, पत्नी घायल, भादू में शोक

जहाजपुर थाना प्रभारी के पिता ने 2 लाख रुपये लेकर कहा, आप निश्चित होकर ट्रैक्टर चलाओ, मेरा बेटा आपको परेशान नहीं करेगा, शिकायत पर पिता-पुत्र के खिलाफ एसीबी में केस दर्ज

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार