हनुमान बेनीवाल की पार्टी के तीन MLA सदन से निलंबित

 


 

जयपुर  राजस्थान विधानसभा के बजट सत्र की शुरुआत आज हंगामेदार रही और पेपर लीक मामले की जांच केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) से कराने की मांग को लेकर सदन में हंगामा करने पर राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी (रालोपा) के विधायक पुखराज गर्ग, नारायण बेनीवाल और इंद्रा बावरी को सोमवार की कार्यवाही तक सदन से निष्कासित कर दिया गया।
बजट सत्र में राज्यपाल कलराज मिश्र के अभिभाषण पढ़ना शुरु करते ही ये तीनों सदस्य वेल में आ गए और हाथों में पेपरलीक मामले की सीबीआई जांच लिखी तख्तियां दिखाते हुए नारेबाजी करने लगे। इस दौरान भाजपा के सदस्य भी वेल में आ गए और नारेबाजी करने लगे और सदन में हंगामा हुआ। बाद में राज्यपाल का अभिभाषण पढ़ा हुआ मान लिया गया और सदन की कार्यवाही आधे घंटे के लिए स्थगित कर दी गई।

हनुमान बेनीवाल ने बताया लोकतांत्रिक व्यवस्था का अपमान


RLP प्रमुख और नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल ने पार्टी के विधायकों का विधानसभा से निष्कासन पर बयान आया है। उन्होंने कहा है कि 'आरएलपी विधायकों ने आज पेपर लीक मामलों की सीबीआई से जांच करवाने की मांग उठाई। राजस्थान विधानसभा में पार्टी प्रदेश अध्यक्ष और भोपालगढ़ विधायक पुखराज गर्ग, खींवसर विधायक नारायण बेनीवाल और मेड़ता विधायक इंदिरा देवी बावरी ने लोकतांत्रिक रूप से प्रदर्शन किया। युवाओं की पीड़ा को आसन के समक्ष रखा। लेकिन सत्ता के इशारे पर उन्हें आसन ने RLP के विधायकों को मार्शल बुलाकर बाहर निकाला गया। एक दिन के लिए निष्कासित किया गया। यह लोकतंत्र की व्यवस्था का अपमान है।'

 


 

हंगामे के चलते राज्यपाल का अभिभाषण अधूरा छोड़ा


सदन की कार्रवाई के दौरान विधानसभा अध्यक्ष डॉक्टर सीपी जोशी ने राज्यपाल महोदय का अभिभाषण पढ़ना शुरू किया। अभिभाषण पढ़े जाने के दौरान ही भारतीय जनता पार्टी और राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के विधायकों ने हंगामा जारी रखा। बार-बार टोकने के बावजूद भी हंगामा नहीं रुका तो विधानसभा अध्यक्ष ने राज्यपाल के भाषण को अधूरा ही छोड़ दिया। बाद में विधानसभा अध्यक्ष डॉ सीपी जोशी ने राज्यपाल के भाषण को पढ़ा हुआ मान लिया गया।

नए विधायक ने ली पद की शपथ


सदन की कार्रवाई प्रारंभ होने के बाद हाल ही में निर्वाचित हुए विधायक अनिल भंवरलाल शर्मा को पद की शपथ दिलाई गई। अनिल भंवरलाल शर्मा ने सरदारशहर सीट पर हुए उपचुनाव से चुनाव जीत कर आए हैं।
 

 

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

डॉक्टरों ने ऑपरेशन के जरिये कटा हुआ हाथ जोड़ा