मासूम ने होमवर्क नहीं दिखाया तो टीचर ने फोड़ दी आंख

 

जयपुर शहर से हैरान करने वाली खबर सामने आई है। दरअसल तीसरी में पढ़ने वाला आठ साल का अली फजल स्कूल का काम (home work) करके नहीं लेकर गया तो आयशा मैडम को गुस्सा आ गया। बच्चे को इतनी पीटा कि उसकी आंख फूट गई। अस्पताल ले गए तो पता चला कि ढाई महीने हो गए आंख की रोशनी चली गई। अब इस मामले में जयपुर के जयसिंह पुरा खोर थाने में टीचर के खिलाफ केस दर्ज कराया गया है।

ऐसा थप्पड़ मारा कि हो गई आंख डैमेज
दर्ज केस के आधार पर जयसिंह पुरा खोर पुलिस ने बताया कि खोर इलाके में रहने वाले मोहम्मद नावेद का बेटा आठ साल का अली फजल घर के नजदीक ही एक निजी स्कूल में पढ़ता था। नवम्बर के महीने में वह एक बार स्कूल का होमवर्क करके नहीं लेकर गया। उसी दिन मैडम ने बच्चों की कॉपी चैक की। अली का नंबर आया तो उसने होमवर्क नहीं करने के बारे में मैडम से कहा। इस पर मैडम गुस्सा हो गई और मासूम बच्चे के गाल में एक तमाचा जड़ दिया (teacher beat student)। वह जोर जोर से रोने लगा। उसे प्रिंसिपल के पास ले जाया गया तो पता चला कि कि उसकी आंख में चोट लगी है।

2 ऑपरेशन हो गए फिर भी नहीं लौटी रोशनी
इस पर स्कूल ने उसके पिता नावेद को फोन कर बुलाया। नावेद आया तो बच्चा अली उससे लिपट कर रोने लगा। वह बच्चे को लेकर तुंरत एसएमएस अस्पताल गया। पता चला कि आंख के अंदर के हिस्सों में चोट लगी है। दो दिन बाद सर्जरी हुई और आंख के अंदर बारह टांके लगाए गए। पंद्रह दिन अस्पताल में भर्ती रहना पड़ा। उसके बाद फिर से एक सर्जरी हुई और अब तीसरी सर्जरी की तैयारी है अगले महीने। लेकिन अब अली को दिखना बंद हो गया है। उसकी एक आंख की रोशनी पूरी तरह से चली गई है। इस पूरे मामले में अब अली के पिता नावेद ने सोमवार को जयसिंहपुरा खोर थाने में केस दर्ज कराया है।

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना