मूलसिंह हत्याकांड- पुलिस चौकी के पास छोड़ी गई मृतक की बाइक बरामद, जयपुर से लौटी पुलिस टीम

 


 भीलवाड़ा बीएचएन  । मांडल थाना इलाके में स्थित धर्मकांटे पर मूलसिंहनामक युवक की हत्या के मामले में गिरफ्तार उत्तरप्रदेश के मैनपुरी जिले के हिमायुपर निवासी उचन सिंह उर्फ  उदल सिंह उर्फ  सत्यम उर्फ  छोटू पुत्र  कीरत सिंह चौहान की निशानदेही से पुलिस ने मृतक की बाइक व हेलमेट बरामद कर ली। बता दें कि यह बाइक जयपुर जिले में पुलिस चौकी के नजदीक लावारिस हालत में खड़ी कर आरोपित यूपी चला गया था।  
मांडल पुलिस ने  हलचल को बताया कि  अजमेर जिले के जवाजा थाने के सूरजपुरा निवासी नारायण सिंह  रावत  ने  थाने में रिपोर्ट दी थी कि उसके भाई मूल सिंह पुत्र हजारी सिंह रावत  की मोईक्रो धर्मकांटा धुंवाला पर हत्या कर दी।   मूल सिंह की बाइक , मोबाईल, नकदी व पर्स मौके भी कातिल अपने साथ ले गया।    पुलिस का कहना है कि मूल सिंह रावत फैक्ट्री में मिस्त्री था।  उधन सिंह उर्फ  उदल सिंह उर्फ  सत्यम उर्फ छोटू  सिंह चौहान जो पहले मूल सिंह रावत के साथ मजदूरी करता था, कुछ समय पहले अपने गांव गया हुआ था जिसने मूल सिंह रावत से मजदूरी लगवाने के लिए बात की ।  02 जनवरी को  को मूल सिंह के कहे अनुसार वह मूल सिंह के पास आ गया। सात जनवरी को  शाम को 4.00 बजे के लगभग माईको धर्मकांटा घूंवाला आये, जहां पर खाना खाने के बाद रात को धर्मकांटा के कमरे में रूके । उधम सिंह उर्फ  उदल सिंह उर्फ सत्यम चौहान ने मजदूरी नहीं लगाने की बात को लेकर मूल सिंह रावत के साथ गाली गलौच कर झगडा किया व पलंग पर सोते हुये के सिर पर भारी पत्थर की चोट मार कर हत्या कर मोटर साईकिल मोबाइल पर लेकर के फरार हो गया। पुलिस टीम ने अथक प्रयास के बाद आरोपित उधन सिंह को  सोमवार को  गिरफ्तार कर 19 जनवरी तक पुलिस रिमांड पर लिया था। 
पुलिस ने आरोपित उधन सिंह से पूछताछ की तो उसने कबूल किया कि मृतक की बाइक व हेलमेट भी व कत्ल के बाद साथ ले गया था। यह बाइक व हेलमेट, उसने कत्ल के बाद भागते वक्त जयपुर जिले के दुुदु थाने की दांतेरी चौकी के पास लावारिस हालत में छोड़ जाने की बात कही।इस खुलासे के बाद मांडल पुलिस की टीम जयपुर जिले के दांतेरी चौकी इलाके में पंहुची, जो यह बाइक व हेलमेट बरामद कर लौट आई। पुलिस का कहना है कि अभी तक मृतक का पर्स और नकदी की बरामदगी नहीं हो पाई। 

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

डॉक्टरों ने ऑपरेशन के जरिये कटा हुआ हाथ जोड़ा