अब दलित दिव्यांग युवती से चित्तौड़गढ़ किले पर गैंगरेप


चित्तौड़गढ़हलचल) ऐतिहासिक चित्तौड़गढ़ किले पर दिव्यांग दलित युवती के साथ गैंगरेप की घटना से हड़कंप मचा है ,हैवानों ने किले पर खण्डरों इस घटना को अंजाम दिया, इसके बाद वे उसे होटल में भी ले गये और अपनी हवस का शिकार बनाया है।

चित्तौड़गढ़ में पीड़िता के पिता ने थाने में सामूहिक दुष्कर्म की रिपोर्ट दी है। पुलिस को दी गई रिपोर्ट में पिता ने बताया है कि उनकी तीस साल की बेटी मानसिक रुप से दिव्यांग है। वो 4 मई को घर से निकल कर किले पर पहुंच गई थी, जहां कुछ बदमाशों ने खंडहर में ले जाकर उसके साथ बारी-बारी से दुष्कर्म किया। इसके बाद युवती को होटल व अन्य जगह भी ले गए। यहां भी उसके साथ दुष्कर्म किया गया। 

इस मामले में पुलिस ने आरोपी कालूराम उर्फ हकला, अनिल उर्फ कालू शर्मा, चेतन उर्फ कचोरिया, प्रहलाद सालवी, देवराज, आशीष शर्मा और रतनलाल समेत सात लोगों को नामजद किया है। पुलिस ने युवती का मेडिकल करवाया है। पुलिस ने इस मामले को लेकर अभी कोई बयान नहीं दिया है। पुलिस ने बताया है कि आरोपियों के खिलाफ रेप व एससी/एसटी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है।बताया जा रहा है कि युवती जब घर लौटकर आई तो उसने पिता को इशारों से पूरी बात को समझाया। इसके बाद पिता ने आरोपियों के खिलाफ थाने में रिपोर्ट दी। अस्पताल में पुलिस के सामने भी युवती ने इशारों से अपने साथ हुई घटना के बारे में बताया है। मेडिकल रिपोर्ट आने के बाद स्थिति और स्पष्ट हो जाएगी। पीड़िता के परिजनों ने बताया कि बचपन से ही वो मानसिक तौर से बीमार है। शादी के बाद छोटे बच्चे होने से वो कभी पीहर तो कभी ससुराल में रहती है।

इधर पुलिस के हाथ कुछ सीसीटीवी फुटेज लगे हैं। इसमें महिला को कुछ लोग अपने साथ ले जाते हुए दिखाई दे रहे हैं। इसी आधार पर ही पुलिस ने आरोपियों को नामजद किया है। इस मामले में जिन लोगों को डिटेन किया गया है, उनमें दो नाबालिग भी हैं।

किले की सुरक्षा पर सवाल :
इस घटना के बाद किले की सुरक्षा पर सवाल उठ रहे हैं। यहां एएसआई के सरकारी व निजी गार्ड तैनात रहते हैं। उन्हें भी इस घटना की भनक तक नहीं लगी। यह बात भी सामने आई के कुछ गार्डों को मालूम चला था, लेकिन वे चुप रहे। पुलिस अब गार्डों से पूछताछ कर रही है।

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना