आफताब को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा, वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से हुई थी कोर्ट में पेशी

 


आफताब श्रद्धा के मोबाइल को करीब एक महीने तक इस्तेमाल करता रहा। हालांकि, उसने कॉल नहीं की, बल्कि व्हाट्सएप चैटिंग की थी। एक बार श्रद्धा के दोस्त लक्ष्मण ने मोबाइल पर व्हाट्सएप मैसेज डाला था, तब आरोपी ने श्रद्धा बनकर लक्ष्मण को कहा था कि वह अभी बिजी है, बात में बात करेगी।अपनी लिव-इन पार्टनर श्रद्धा वाकर की हत्या का आरोपी इस समय तिहाड़ जेल में बंद आफताब अमीन पूनावाला आज साकेत अदालत में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कार्यवाही में शामिल हुआ।दिल्ली की साकेत कोर्ट ने आरोपी आफताब पूनावाला की न्यायिक हिरासत 14 दिनों के लिए बढ़ा दी है। दिल्ली पुलिस ने न्यायिक हिरासत बढ़ाने की मांग की और कहा कि जांच चल रही है। बता दें कि, पुलिस ने आरोपी पूनावाला को 12 नवंबर को गिरफ्तार किया था, जिसके बाद उसे पांच दिनों की पुलिस हिरासत में भेजा गया था। पुलिस हिरासत को 17 नवंबर को पांच दिन के लिए बढ़ा दिया गया था। कोर्ट ने 22 नवंबर को फिर से आरोपी अफताब पूनावाला को चार दिनों की पुलिस हिरासत में भेजा था और उसके बाद 26 नवंबर को उसे 13 दिनों की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया था। श्रद्धा हत्याकांड के आरोपी आफताब अमीन पूनावाला (28) ने महरौली पुलिस को खुली चुनौती दे रखी है कि श्रद्धा को मैंने मारा है, दम है तो शरीर के टुकड़े व औजार बरामद करके दिखाओ। वह इस चुनौती को बार-बार दोहरा रहा है। आरोपी की इस चुनौती को लेकर दक्षिण जिला पुलिस अधिकारी भी सकते में हैं। पुलिस को उसके आत्मविश्वास को देखकर ताज्जुब हो रहा है। दिल्ली पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त बताया कि जब महरौली पुलिस ने आरोपी को पकड़ा था तो आफताब ने कहा था कि मैंने श्रद्धा की हत्या की है। दम है तो शरीर के टुकड़े बरामद करके दिखाओ। वह इस चुनौती को अब लगातार दोहरा रहा है। पुलिस श्रद्धा के सिर व धड़ को अभी तक बरामद नहीं कर पाई है। छतरपुर के जंगल से बरामद जबड़ा व 100 फुटा रोड से बरामद शरीर के टुकड़े से पता लग है कि वह किसी महिला के टुकड़े हैं। पुलिस शरीर के टुकड़े बरामद करने के लिए इस्तेमाल किए गए औजार अभी तक बरामद नहीं कर पाई है। हालांकि, पुलिस ने रसोई से पांच चाकू बरामद किए हैं। इनसे आरोपी ने श्रद्धा के शरीर के टुकड़े करने में इस्तेमाल किया था।

श्रद्धा बनकर दोस्त से करता रहा चैटिंग
आफताब श्रद्धा के मोबाइल को करीब एक महीने तक इस्तेमाल करता रहा। हालांकि, उसने कॉल नहीं की, बल्कि व्हाट्सएप चैटिंग की थी। एक बार श्रद्धा के दोस्त लक्ष्मण ने मोबाइल पर व्हाट्सएप मैसेज डाला था, तब आरोपी ने श्रद्धा बनकर लक्ष्मण को कहा था कि वह अभी बिजी है, बात में बात करेगी। बाद में उसने लक्ष्मण को मैसेज किया कि श्रद्धा उसे छोड़कर चली गई। इसके बाद उसने मुंबई लेकर जाकर श्रद्धा के मोबाइल व सिम को समुद्र में फेंक दिया था। उस समय वह मुंबई के किराए के घर से सामान को शिफ्ट करने गया था। पुलिस को अभी श्रद्धा का मोबाइल व सिम नहीं मिला है।

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

देवगढ़ से करेड़ा लांबिया स्टेशन व फुलिया कला केकड़ी मार्ग को स्टेट हाईवे में परिवर्तन करने की मांग

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार