जल प्रदूषण फैलाने वाले 18 में से 14 उद्योगपतियों के परिवार है कैंसर से ग्रसित-हंसराज चौधरी

 

भीलवाड़ा (हलचल)। भीलवाड़ा जिले में केमिकल का प्रदूषण आम लोगों के साथ अब उन लोगों के लिए भी जानलेवा बन रहा है जो इसे फैला रहे है। जल प्रदूषण से जिले के 188 गांव का पानी खराब हो चला है और खेती उजड़ गई है। लेकिन जिम्मेदार लोग मूकदर्शक बने है। ठोस कार्रवाई नहीं हो पा रही है। खुद के स्वार्थ के चलते लोगों की जान से खिलवाड़ कर रहे है। 
भीलवाड़ा के मोतीबोर खेड़ा ग्राम में कैंसर का ईलाज करने में महारथ हांसिल कर चुके नवगृह आश्रम के संस्थापक और वैद्य हंसराज चौधरी ने यह गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि भीलवाड़ा में जल केमिकल प्रदूषण फैला रहे उद्योगपतियों के परिजन भी कैंसर जैसी गंभीर बीमारियों से जूझ रहे है। उन्होंने दावा कि‍या कि भीलवाड़ा में 18 में से 14 प्रोसेस हाउसों के मालिक या रिश्तेदार इस गंभीर रोग से ग्रसित है और इनमें से 8 का तो वे अब भी उपचार कर रहे है। 
उन्होंने जल प्रदूषण से भीलवाड़ा जिले के भयावह होते हालातों से भीलवाड़ा हलचल से बेबाकी के बयां करते हुए चौधरी ने कहा कि चंद रुपयों के लिए जिम्मेदार लोग इंसानों की जान से खेल रहे है। वे मौत बेच रहे है। जल प्रदूषण के साथ ही उन्हें शराब और तम्बाकू को लेकर भी इसी तरह की बात कही। उन्होंने कहा कि सरकार चाहे तो कैंसर जैसी बीमारी थम सकती है वे जड़ को खत्म नहीं करके उसका ईलाज कर रही है। उनका कहना था कि शराब और तम्बाकू के उत्पादन पर प्रतिबंध लगा देना चाहिए परन्तु ऐसा नहीं करके इससे फैल रही बीमारियों की रोकथाम पर करोड़ों रुपए खर्च कर रही है। उनका दावा था कि उपचार के लिए जो रिसर्च कर रही है दवाईयां खरीद रही है वह खर्चा टेक्स से भी ज्यादा है। उन्होंने अधिकारियों पर खुलेआम इस तरह मौत बांटने के लिए जिम्मेदार होने का भी आरोप लगाया और कहा कि वे सुविधा शुल्क के लिए मौत बेचने का काम कर रहे है।
हलचल के साथ उनकी पूरी बातचीत जो चौंकाने वाली है आप भी देखें और हो जाइये सावधान ! वक्त अभी भी है सचेत होने का। हालात ऐसे ही रहे तो आने वाला समय और भी खतरनाक होगा। (देखें वीडियो)

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

देवगढ़ से करेड़ा लांबिया स्टेशन व फुलिया कला केकड़ी मार्ग को स्टेट हाईवे में परिवर्तन करने की मांग

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार