राहुल का दर्द- 24 घंटे होती थी वाह-वाह, भारत जोड़ो यात्रा के बीच ऐसा क्यों बोले राहुल गांधी?

 


कांग्रेस ने राहुल गांधी के भारत जोड़ो यात्रा और राजनीति में उनके शुरुआती दिनों के भाषणों का एक वीडियो पोस्ट किया है. राहुल गांधी ने वीडियो में कहा कि जब मैं राजनीति में आया तो देश का सारा मीडिया 2008-09 तक 24 घंटे मेरे लिए 'वाह-वाह' करता था, आपको याद है? फिर मैंने दो मुद्दे उठाए और सब कुछ बदल गया. राहुल गांधी ने साथ ही बीजेपी पर  भी हमला बोला है.

कांग्रेस सांसद ने आगे कहा कि मैंने दो मुद्दे उठाए थे- एक नियमगिरि और दूसरा भट्टा पारसौल का था. जब मैंने जमीन का सवाल उठाया और गरीब लोगों के अधिकार की रक्षा करना शुरू किया, तो पूरे मीडिया में तमाशा शुरू हो गया. हम आदिवासियों के लिए पेसा अधिनियम  और उनके भूमि अधिकारों के लिए अन्य कानून लाए और फिर मीडिया ने मेरे खिलाफ 24 घंटे लिखना शुरू कर दिया. 

बीजेपी पर साधा निशाना

राहुल गांधी ने कहा कि भारत की संपत्ति जो मूल रूप से महाराजाओं की थी, संविधान के माध्यम से जनता को दी गई थी, लेकिन बीजेपी इसके विपरीत काम कर रही है. बीजेपी उन संपत्तियों को महाराजाओं को वापस दे रही है.

उन्होंने कहा कि बीजेपी ने उनकी छवि खराब करने के लिए हजारों करोड़ खर्च किए, लेकिन ये काम नहीं करता है. जितना वे मेरी छवि को खराब करने के लिए खर्च करते हैं उतनी ही वे मुझे और ताकत देते हैं क्योंकि सच्चाई को दबाया नहीं जा सकता. जब आप एक बड़ी ताकत से लड़ते हैं, तो आप पर व्यक्तिगत हमला किया जाएगा. इसलिए मुझे पता है कि जब मुझ पर व्यक्तिगत हमला होता है तो मैं सही रास्ते पर हूं. 

राहुल गांधी ने और क्या कहा?

कांग्रेस सांसद ने वीडियो में कहा कि यह मेरे गुरु हैं. यह मुझे सिखाते हैं कि किस पक्ष को चुनना है और मैं अपनी लड़ाई में आगे बढ़ रहा हूं. जब तक मैं आगे बढ़ रहा हूं, तब तक सब ठीक है. बता दें कि, राहुल गांधी  ने ओडिशा में वेदांता के खनन अभियान के लिए नियामगिरी भूमि अधिग्रहण को अवैध बताते हुए इसका विरोध किया था. इसके अलावा उत्तर प्रदेश के भट्टा परसौल में भूमि अधिग्रहण को लेकर 2011 में बड़े पैमाने पर किसानों का विरोध देखा गया था. राहुल गांधी ने तत्कालीन मायावती सरकार के खिलाफ किसानों के उस विरोध प्रदर्शन में हिस्सा लिया था. 

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

देवगढ़ से करेड़ा लांबिया स्टेशन व फुलिया कला केकड़ी मार्ग को स्टेट हाईवे में परिवर्तन करने की मांग

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार