गुजरात में वंदे भारत एक्सप्रेस की चपेट में आया मवेशी, 2 महीने में चौथी बार हुई घटना

 


गुजरात में उदवाड़ा और वापी रेलवे स्टेशन के बीच एक मवेशी गुरूवार शाम गांधीनगर-मुंबई वंदे भारत सुपरफास्ट एक्सप्रेस ट्रेन की चपेट में आ गया. रेलवे के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि घटना में ट्रेन के अगले हिस्से में मामूली खरोंच आई है. दो महीने पहले परिचालन शुरू होने के बाद से इस मार्ग पर वंदे भारत ट्रेन से जुड़ी यह इस तरह की चौथी घटना है.

पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी ने दी जानकारी
पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी सुमित ठाकुर ने कहा कि घटना उदवाड़ा और वापी के बीच समपार फाटक संख्या 87 के पास शाम करीब छह बजकर 23 मिनट पर हुई. उन्होंने कहा, “ट्रेन के अगले हिस्से में मामूली खरोंच आई है और कोई परिचालन समस्या नहीं हुई. खरोंच को आज रात ठीक कर दिया जाएगा.” घटना के कारण कुछ देर रुकने के बाद ट्रेन शाम 6.35 बजे आगे की यात्रा पर रवाना हुई. जानिए कब-कब हादसे का शिकार हुई है ट्रेन.

गुजरात के आणंद के पास महिला को टक्कर मारी
अहमदाबाद से आ रही वंदे भारत एक्सप्रेस ने 54 वर्षीय महिला को भी कुचल दिया था, जिससे उसकी मौत हो गई थी. घटना उस वक्त हुई जब वह आनंद रेलवे स्टेशन के पास रेलवे ट्रैक पार कर रही थी.अहमदाबाद के रहने वाले मृतक की पहचान बीट्राइस आर्किबाल्ड पीटर के रूप में हुई है थी.|

भैंसों का झुंड टकराया
अक्टूबर में हुई एक अन्य घटना में, सेमी-हाई-स्पीड ट्रेन ने भैंसों के झुंड को टक्कर मार दी थी. हादसा गैरतपुर और वटवा रेलवे स्टेशनों के बीच हुआ. टक्कर इतनी जोरदार थी कि फाइबर रीइन्फोर्स्ड प्लास्टिक (एफआरपी) इंजन का अगला हिस्सा क्षतिग्रस्त हो गया |

गाय से टक्कर
अक्टूबर में फिर से, गुजरात के वलसाड में अतुल स्टेशन के पास एक गाय को टक्कर मार दी थी. जिससे इंजन के नोज कवर को भी नुकसान पहुंचा था. ऐसी ही एक घटना 7 अक्टूबर को हुई थी जब ट्रेन गुजरात के आणंद के पास एक अन्य गाय से टकरा गई थी | 

परिचालन में गड़बड़ी
इसके अलावा, ट्रेन को इस साल अक्टूबर में अपने संचालन के साथ एक समस्या का भी सामना करना पड़ा था, जब इसके एक रेक को दनकौर और वैर रेलवे स्टेशनों के बीच एक जाम का सामना करना पड़ा था. रिपोर्ट्स के मुताबिक, इसके एक कोच के ट्रैक्शन मोटर में बियरिंग डिफेक्ट आ गया था |

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

देवगढ़ से करेड़ा लांबिया स्टेशन व फुलिया कला केकड़ी मार्ग को स्टेट हाईवे में परिवर्तन करने की मांग

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार