कोठारी नदी पुलिया की जांच के लिए शनिवार को जयपुर से आएगी तीन सदस्यी टीम

 


भीलवाड़ा(हलचल)।  पालड़ी ओवरब्रिज की जांच के लिए जयपुर की मालवीय नेशनल  इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नॉलोजी (एमएनआईटी) की  तीन सदस्य टीम के शनिवार को  भीलवाड़ा आने की संभावना है। ये टीम मेंकोठारी रिवर पर बन रही पुलिया में घटिया निर्माण सामग्री का उपयोग किया गया या नहीं की जांच करेगी। 
एमएनआईटी एसोसिएट डीन डॉ. अरुण गौड़ ने बताया कि नगर विकास न्यास का पत्र मिला है। उसके आधार पर उनके नेतृत्व में शनिवार को टीम भीलवाड़ा आएगी। टीम मौके की स्थिति को देखने के बाद ही यह तय करेगी कि ओवरब्रिज क्षतिग्रस्त होने के पीछे क्या कारण रहे। इसे किसी ने क्षतिग्रस्त किया या फिर घटिया निर्माण के चलते ऐसा हुआ है। एक अन्य अधिकारी ने बताया कि विकर सेक्शन स्लैब कमजोर होने से तथा ट्राफिक इंपेक्ट यानी यातायात का दबाव होने से स्लैब की कमजोरी के कारण स्लैब का एक हिस्सा क्षतिग्रस्त हो गया। 
गौड़ ने बताया कि इस ओवरब्रिज की मार्च 2021 व अक्टूबर 2021 को जांच की थी। मार्च में संवेदक को अपनी लैब लगाने, मिक्सर प्लांट लगाने तथा कुछ स्टरींग में गड़बड़ी को सुधारने के निर्देश दिए थे। अक्टूबर में जांच के समय मौके पर कोई काम नहीं चल रहा था। ऐसे में सैम्पल नहीं लिया गया। तीसरी बार जून-2022 को टीम भीलवाड़ा आई थी तो केवल दो ओवरब्रिज की जांच करके चली गई थी। उस समय नगर विकास न्यास के अधिकारियों ने बताया था कि केशव हॉस्पिटल के पास कोठारी नदी  ओवरब्रिज पर कोई काम नहीं चल रहा है तो वहां पर टीम नहीं गई थी। उधर, सुभाषनगर थाना पुलिस भी इस मामले की जांच कर रही है। सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधीक्षण अभियन्ता पीआर मीणा ने बताया कि उनके पास जांच के कोई संसाधन नहीं है। क्वालिटी कंट्रोल विभाग भी उनके अधीन नहीं है।सूत्रों का कहना है कि पुलिया के निर्माणधिन है ऐसे में जिम्मेदार ठेकेदार है।

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

डॉक्टरों ने ऑपरेशन के जरिये कटा हुआ हाथ जोड़ा