न्याय के लिए न्यायिककर्मी दूसरे दिन भी सामूहिक हड़ताल पर, दास और बेगार प्रथा नारों से नहीं होगी खत्म ...!

 

भीलवाड़ा (हलचल/प्रहलाद तेली)। जयपुर में एक पीठासीन अधिकारी के आवास पर मृत मिले कर्मचारी  के मामले में एफआईआर दर्ज नहीं होने के साथ ही  परिवार को न्याय नहीं मिलने को लेकर प्रदेश भर के साथ भीलवाड़ा के न्यायिक कर्मचारी भी दो दिनों से सामूहिक अवकाश पर है और जब तक परिवार को न्याय नहीं मिलता यह आन्दोलन जारी रहेगा।
न्यायिक कर्मचारी संघ के जिलाध्यक्ष दिलबहादूर सिंह ने गुरूवार को कहा कि भीलवाड़ा के न्यायिक कर्मचारी पिछले दो दिनों से सामूहिक अवकाश पर और तब तक रहेंगे जब तक जयपुर में एनडीपीएस एक्ट के तहत पीठासीन अधिकारी के आवास पर मृत मिले सहायक कर्मचारी सुभाष मेहरा के मामले में एफआईआर दर्ज नहीं हो जाती और उसके परिजनों को 50 लाख का मुआवजा और आश्रित को नौकरी नहीं मिल जाती। इसे लेकर प्रदेश भर के न्यायिक कर्मचारी सीबीआई से जांच की मांग कर रहे है।
सबको न्याय दिलाने वाली न्याय पालिका के कर्मचारी के संबंध में ही न्याय के लिए प्रदेश भर के कर्मचारियों को आन्दोलन पर उतरना पड़ा है। उन्होंने कहा कि आज सहायक कर्मचारियों को दास और बेगार प्रथा झेलनी पड़ रही है। न्यायिक कर्मचारियों के आवासों पर सहायक कर्मचारियों से झाड़ू, पौचा, कपड़े धुलवाने का काम लिया जाता है। यही नहीं इनसे शौचालय भी साफ करवाये जाते है। सहायक कर्मचारी संघ की महिला नेता ने कहा कि नारे लगाने से दास और बेगार प्रथा खत्म नहीं होगी। इसके लिए हम सबको एकजुट होना होगा। उन्होंने कहा कि अधिकारियों और कर्मचारियों के बीच लगातार खाई बढ़ती जा रही है। हालात यह है कि अधिकारी हां कहते है हमें भी हां कहनी पड़ता है और ना कहते है तो ना। हम प्रेशर से काम करने को मजबूर है। इससे सहायक कर्मचारियों को मुक्ति मिलनी चाहिए। 

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

देवा गुर्जर की गैंगवार में हत्या, विरोध में रोडवेज बस में लगाई आग !

देवा गुर्जर हत्या का मुख्य आरोपी दुर्गा गुर्जर गिरफ्तार 3 साथी भी पकड़े गए

कन्या हत्याकांड- भीलवाड़ा में साली की हत्या कर भागे जीजा ने एमपी में दी जान, मार कर मरुंगा का एफबी पर लगाया था स्टेटस

छोटे भाई की पत्नी के साथ होटल में रंगरलियां मना रहा था पुलिसकर्मी, सिपाही पत्नी ने पकड़ा और कर दी धुनाई

गंगरार कस्बे में कुए में मिली लाश की हत्या का खुलासा, प्रेमी से मिलकर बहिन ने करवाई थी भाई की हत्या,

डांग के हनुमान मंदि‍र के सरजूदास दुष्‍कर्म के आरोप में गि‍रफ्तार, खाये संदि‍ग्‍ध बीज, आईसीयू में भर्ती

प्रोसेस हाउस की बस की टक्कर से ऑटो मोबाइल कंपनी के मैनेजर की मौत