खुशी परियोजना द्वारा सुवाणा मे आयोजित बाल मेले मे आंगनबाड़ी के बच्चों ने मचाई धूम

 


गुरला बद्री लाल माली | खुशी परियोजना के द्वारा बाल दिवस के उपलक्ष्य मे आयोजित किए जाने वाले कार्यक्रमों के  बाल मेले का आयोजन गाडरमाला में किया गया। खुशी परियोजना हिंदुस्तान जिंक रामपुरा आगुचा खान, महिला एवं बाल विकास विभाग तथा केयर इंडिया के संयुक्त तत्वाधान मे भीलवाड़ा जिले के तीन ब्लॉक सुवाणा, शाहपुरा व हुरडा मे संचालित है। 
आज के कार्यक्रम के मुख्य अतिथि विधायक महोदया गायत्री देवी, विशिष्ट अतिथि सीडीपीओ राजेश शर्मा, सरपंच बद्री लाल जी , सुवाणा ब्लॉक की समस्त महिला पर्यवेक्षक रहे। कार्यक्रम की अध्यक्षता केयर इंडिया प्रोजेक्ट मेनेजर अखिलेश दुबे द्वारा की गई । कार्यक्रम की शुरुआत दीप प्रज्ज्वलन व सरस्वती वंदना के साथ की गयी। अतिथियों ने मेले मे लगी स्टाल का भ्रमण कर खुशी परियोजना द्वारा आंगनबाड़ी केन्द्रो पर किए जाने वाले कार्यों की जानकारी ली। 
मुख्य अतिथि विधायक महोदया गायत्री देवी द्वारा बाल दिवस की शुभकामनाएँ देते हुए मेले मे की जा रही गतिविधियों की सराहना की गई। सीडीपीओ राजेश शर्मा ने आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं का प्रोत्साहन करते हुए खुशी परियोजना को सहयोग देने के लिए कहा। उन्होने बताया कि खुशी परियोजना द्वारा आयोजित किए जाने वाले कार्यक्रमों से बच्चों व आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को बहुत प्रोत्साहन मिलता है व ऐसे आयोजन समय समय पर होते रहने चाहिए। 
इस मेले के आयोजन का मुख्य उद्देश्य बच्चों को विभिन्न गतिविधियों के माध्यम से मंच प्रदान करना व उनमे आत्म विश्वास जगाना था। बच्चों ने कुर्सी रेस, जलेबी खाओ, नींबू चम्मच दौड़, प्रतियोगिता मे बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया। साथ ही बच्चों के कविता पाठ करके नृत्य का आनंद लिया। कार्यक्रम मे आए सभी बच्चों को परियोजना की तरफ से बॉक्स व क्रेयोन का पैकेट दिया गया। 
अंत मे खुशी परियोजना के फील्ड मोनिटी निशा व्यास द्वारा सभी उपस्थित लोगों का धन्यवाद देकर कार्यक्रम को समाप्त किया गया। कार्यक्रम में सुवाणा ब्लॉक के आस पास की आंगनबाड़ी केंद्र के बच्चें, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता व अभिभावक, खुशी परियोजना से अशोक लीलर, दिनेश जोशी प्रदीप सुखवाल, निर्मला दाधीच, चंदा शर्मा, सीमा जाट ,लीना पारीक , मयंक पारीक, प्रभु लाल  बाल किशन  प्रजापत, कालूराम प्रजापत प्रदीप अहीर उपस्थित रहे।

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

देवगढ़ से करेड़ा लांबिया स्टेशन व फुलिया कला केकड़ी मार्ग को स्टेट हाईवे में परिवर्तन करने की मांग

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार