उद्घाटन से पहले ही भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ी कोठारी रिवर की पुलिया, जिला कलक्टर ने मुकदमा दर्ज कराने के दिये आदेश


भीलवाड़ा (हलचल)। नगर विकास न्यास द्वारा 13 करोड़ 9 लाख रुपए की लागत से कोठारी रिवर पर बनाई गई पुलिया उद्घाटन से पहले ही क्षतिग्रस्त हो गई है। भ्रष्टाचार की बू निर्माण में साफ झलक रही है लेकिन न्यास अधिकारियों ने पुलिया को क्षतिग्रस्त किये जाने की बात कहकर मामले को टालने का प्रयास किया वहीं जिला कलक्टर ने पुलिस में रिपोर्ट दर्ज करा जांच के निर्देश दिए है। 
भीलवाड़ा हलचल ने शुक्रवार को कोठारी रिवर पर बनाई गई पुलिया के बीच दो बड़े आर पार छेद हो जाने के समाचार प्रसारित करने के बाद नगर विकास न्यास में हड़कम्प मच गया। वहीं जिला कलक्टर आशीष मोदी ने इस पर त्वरित एक्शन लेते हुए स्वयं जायजा लेने वहां पहुंचे जहां उन्होंने इस पुलिया के निर्माण में विलम्ब को लेकर भी अधिकारियों को खरी खोटी सुनाई और तत्काल निर्माण में तेजी लाने के निर्देश दिये। इसी के साथ उन्होंने क्षतिग्रस्त पुलिया का जायजा लिया। न्यास अधिकारियों से इस बारे में जानकारी ली तो निर्माण से जुड़े अधिकारियों ने कहा कि इसे ड्रील कर या जेसीबी मशीन से तोड़ा गया है। इस पर जिला कलक्टर ने आस पास सीसीटीवी कैमरे होने की जानकारी चाही लेकिन आस पास कैमरा नहीं लगा होने की बात सामने आई। पास में ही एक निजी हॉस्पीटल है। जेसीबी मशीन या ड्रील कर पुलिया को तोडऩे की जानकारी कहीं से नहीं मिल पाई है। हलचल ने इस बारे में आस पास के क्षेत्र में जानकारी करनी चाही लेकिन इस तरह की जानकारी नहीं मिल पाई। महेन्द्र सिंह नामक एक व्यक्ति ने बताया कि आज सुबह अचानक पुलिया के बीच एक डम्पर धंस गया था। बाद में जैसे तैसे डम्पर चालक ने उसे बाहर निकाला। जहां यह पुलिया क्षतिग्रस्त हुई है। मौके पर लोगों ने यह भी कहा कि पुलिया के निर्माण में घटिया सामग्री काम में ली गई जो सामने झलक रही है। 
जिला कलक्टर ने घटिया निर्माण के सवाल पर न्यास के अधिकारियों से पूछताछ भी की। इस पर न्यास के निर्माण से जुड़े अधिकारियों ने कहा कि इसकी दो बार जांच पड़ताल करवाई जा चुकी है, गुणवत्ता में कोई कमी नहीं है। जिला कलक्टर ने एक बार फिर जांच कराने के निर्देश दिये। 13 करोड़ की इस पुलिया का निर्माण अजमेर के ठेकेदार एच एस मेहता ने किया है लेकिन निर्माण कम्पनी का कोई भी कर्मचारी यहां मौजूद नहीं मिला। 
पुलिया का निर्माण रोका, खोद दी खाई :
पुलिया के क्षतिग्रस्त होने के बाद नगर विकास न्यास के अधिकारियों ने तत्परता दिखाते हुए पुलिया के दोनों ओर आवाजाही खाई खोदकर रोक दी है। सुबह तक इस पुलिया पर भारी वाहन गुजर रहे थे लेकिन अब कोई भी भारी वाहन वहां से नहीं गुजर पायेगा। जिला कलक्टर के दौरे से पहले न्यास ने यह तत्परता दिखाई। 
उद्घाटन की थी तैयारी :
न्यास द्वारा निर्मित इस पुलिया का उद्घाटन जल्दी ही कराया जाना था और इसकी तैयारी भी की जा रही थी। चार दिन पहले ही न्यास के अधिकारियों ने इसका जायजा लिया लेकिन आज भ्रष्टाचार भेंट यह पुलिया चढ़ती नजर आई है।

 

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

देवगढ़ से करेड़ा लांबिया स्टेशन व फुलिया कला केकड़ी मार्ग को स्टेट हाईवे में परिवर्तन करने की मांग