नेत्र एवं दंत रोग पीड़ितों की निःशुल्क जांच एवं उपचार, सैकड़ो लोगों को मिला लाभ

 

भीलवाड़ा। पीड़ित मानवता की सेवा की भावना से लगाए गए शिविर के शुरू होने से पहले ही सैकड़ो लोग अपने नेत्र या दंत संबंधी जांच के लिए पहुंच चुके थे। शिविर शुरू हुआ तो जांच कराने आए प्रत्येक व्यक्ति का पंजीयन कर विशेषज्ञ चिकित्सक से जांच होने के साथ परामर्श दिया गया। चिकित्सकों ने रोगी की पीड़ा सुनने के बाद जरूरत के अनुसार उपचार प्रदान किया तो आते समय चिन्तीत नजर आने वाले चेहरों पर बाहर जाते समय मुस्कारहट दिखी। ये नजारा श्रीभूरालाल शोभागसिंह बाबेल चेरिटेबल ट्रस्ट भीलवाड़ा द्वारा जिला अंधता नियंत्रण सोसायटी एवं रामस्नेही चिकित्सालय एवं अनुसंधान केन्द्र भीलवाड़ा के साथ मिलकर रविवार को जिले के सवाईपुर कस्बे में ट्रस्ट के 35वें विशाल निःशुल्क नेत्र चिकित्सा एवं लैंस प्रत्यरोपण, दंत रोग परामर्श एवं चिकित्सा शिविर में दिखाई दिया। श्री ऑल इंडिया श्वेताम्बर स्थानकवासी जैन कॉन्फ्रेंस की राजस्थान महिला शाखा के सहयोग से सवाईपुर के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में सुबह 10.30 से दोपहर 3 बजे तक आयोजित शिविर में नेत्र एवं दंत रोग से पीड़ित 325 लोगों को लाभ मिला। लाभ पाने वाले केवल सवाईपुर के निवासी ही नहीं बल्कि आसपास के दर्जनों छोटे-बड़े गांवों के निवासी भी थे। श्रीभूरालाल शोभागसिंह बाबेल चेरिटेबल ट्रस्ट के अध्यक्ष ललित बाबेल ने बताया कि शिविर में प्रसिद्ध नेत्र रोग विशेषज्ञ डॉ. सुरेश भदादा एवं प्रसिद्ध दंत रोग विशेषज्ञ डॉ. प्रतीक अग्रवाल एवं उनके सहयोगियों द्वारा रोगियों की जांच कर उपचार किया गया। शिविर में 301 जनों की नेत्र सम्बन्धी जांच कर परामर्श दिया गया। इनमें से 30 जनों का ऑपरेशन किया जाएगा। शिविर में दंत रोग से पीड़ित 25 से अधिक रोगियों की जांच कर परामर्श दिया गया। जैन कॉन्फ्रेंस की राजस्थान महिला शाखा अध्यक्ष नीता बाबेल ने बताया कि नेत्र ऑपरेशन के लिए भर्ती किए जाने वाले रोगियों के लिए भोजन, चश्में, दवाईयां, लैंस, बिस्तर व रोगियों को भीलवाड़ा लाने व ले जाने की व्यवस्था संस्थाओं द्वारा निःशुल्क की जाएगी। शिविर संयोजक नाथूलालजी छाजेड़ ने बताया कि शिविर में आने वाले रोगियों को कोई परेशानी नहीं आए इसके लिए सभी संस्थाओं द्वारा समन्वित भाव से कार्य कर आयोजन को सफल बनाया गया। शिविर की व्यवस्था सुचारू रखने में आयोजक श्रीभूरालाल शोभागसिंह बाबेल चेरिटेबल ट्रस्ट भीलवाड़ा के अध्यक्ष ललितकुमार बाबेल, सचिव महावीरकुमार बाबेल, अमरसिंह बाबेल, जैन कॉन्फ्रेंस की महिला शाखा की प्रान्तीय अध्यक्ष नीता बाबेल, विकास बाबेल, प्रशान्त बाबेल, लादूसिंह छाजेड़, अमरसिंह डूंगरवाल, सुशील छाजेड़, विजयादेवी डूंगरवाल, साहिल बाबेल, सिद्धार्थ बाबेल, दिव्यम बाबेल, साक्षी बाबेल, निमिशा बाबेल, सुरेन्द्र जैन, शशि जैन आदि ने सहयोग किया। शिविर का अवलोकन करने वाले अतिथियों में जैन कॉन्फ्रेंस की महिला शाखा की राष्ट्रीय अध्यक्ष पुष्पा गोखरू, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष लाड़जी मेहता, प्रान्तीय महामंत्री चंदा कोठारी, वरिष्ठ उपाध्यक्ष विजियादेवी डूंगरवाल, मार्गदर्शिका बलवीर चोरड़िया, प्रमिला सूरिया, संगठन मंत्री मंजू खटवड़, शांतिभवन महिला मंडल की अध्यक्ष स्नेहलता चौधरी, महिला मंडल की मंत्री सरिता पोखरना, कार्यकारिणी सदस्य निर्मला सिंघवी, सिम्मी पोखरना,सुनीता पीपाड़ा, निर्मला बुलिया, जैन कॉन्फ्रेंस के प्रान्तीय मार्गदर्शक अमरसिंह डूंगरवाल, शांतिभवन संघ मंत्री राजेन्द्र सुराना, कोषाध्यक्ष मदनलाल सिपानी, बीगोद के समाजसेवी महावीर बाफना, मुकेश पोखरना, कमल मोदी, बलवंतराय लढ़ा, अशोक गर्ग, सुनील मेहता, मनोज सिंघवी आदि शामिल थे। सवाईपुर निवासी समाजसेवी राजेश श्रोत्रिय, श्यामसुंदर श्रोत्रिय,सरपंच महावीर सुवालका ने भी चिकित्सा शिविर को सफल बनाने में सहयोग प्रदान किया। शिविर को सफल बनाने में लक्ष्मणकुमार, ज्योतिषकुमार, महेन्द्रकुमार, भैरूकुमार, विजयकुमार आदि का भी सहयोग रहा।

 

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

डॉक्टरों ने ऑपरेशन के जरिये कटा हुआ हाथ जोड़ा