पेपर आउट ,आरपीएसएसी ने सेकेंड ग्रेड टीचर भर्ती परीक्षा की रद्द

 

भीलवाड़ा( हलचल विजय)आरपीएसएसी ने सेकेंड ग्रेड टीचर भर्ती की शनिवार को होने वाली परीक्षा को गड़बडी के चलते निरस्त कर दिया है।   आज सुबह नौ बजे परीक्षा  समान्य विज्ञान का परीक्षा देने पहुंचे छात्रों को प्रवेश पत्र दिखाने के बाद प्रवेश दिया गया और बाद में उन्हें पेपर आउट होने की बात कहकर लौटा दिया गया इससे छात्रों में खासा रोष नजर आया है भगवानपुरा की रहने वाली पूनम शर्मा ने कहा कि वह ठंड में पेपर देने के लिए पांसल रोड स्थित पुनीत कॉलेज पहुंची थी लेकिन वहां प्रवेश पत्र दिखाने के बाद उन्हें पेपर आउट होने की जानकारी दी गई यहां सैकड़ों परीक्षार्थी परीक्षा देना है लेकिन निराश होकर लौटे एक अन्य छात्र मोहन ने कहा कि ऐसे लोगों को कड़ी सजा मिलनी चाहिए जो पेपर आउट करते हैं एक अन्य छात्र भेरूलाल का कहना था कि ऐसा कड़ा नियम बनाया जाए कि पेपर आउट करने वालों को लंबी सजा हो ताकि इस तरह की घटनाओं पर रोक लग सके।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार जालोर से आ रही एक बस में पुलिस ने चेकिंग की। जिसमें कुछ परीक्षार्थी और टीचर थे। शिक्षक की परीक्षार्थी से एक पेपर सॉल्व करवा रहे थे। जिसकी जानकारी तुरंत ही आरपीएससी को दी गई और परीक्षा को निरस्त कर दिया गया है।मामले की जांच एसओजी को सौंपी गई है। यह वही प्रश्न पत्र था, जो आज आना था। मामले की जांच की जा रही है कि यह प्रश्न पत्र कहां से आया। फिलहाल, पेपर निरस्त कर दिया गया है। हजारों परीक्षार्थियों को यह सूचना परीक्षा केंद्र पर पहुंचने पर मिली है ।

आज होने वाली इस परीक्षा के लिए प्रदेश भर मैं कुल 1193 परीक्षा केंद्र बनाए गए थे और दोपहर 2:00 बजे से लेकर अपराहन 4:30 बजे तक ज्ञान विषय की परीक्षा 461 केंद्रों पर आयोजित होनी थी इस परीक्षा के लिए अजमेर में 90 अलवर में 83 बांसवाड़ा में 50 बांरा में 25 भीलवाड़ा में 78 बीकानेर में 42 बूंदी में 20

चित्तौड़गढ़ में 23 चूरू में 49 दोसा में 38 धौलपुर में 14 डूंगरपुर में 36 हनुमानगढ़ में 47 जयपुर में 220 जैसलमेर में 10 झालावाड़ में 17 झुंझुनू में 66 जोधपुर में 99 कोटा में 69 नागौर में 20 पाली में 30 प्रतापगढ़ में 19 राजसमंद में 12 सिरोही में तेरा श्रीगंगानगर में 35 टॉक में 32 एवं उदयपुर में 100 केंद्रों पर यह परीक्षा आयोजित होने वाली थी।

 

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

मुंडन संस्कार से पहले आई मौत- बेकाबू बोलेरो की टक्कर से पिता-पुत्र की मौत, पत्नी घायल, भादू में शोक

जहाजपुर थाना प्रभारी के पिता ने 2 लाख रुपये लेकर कहा, आप निश्चित होकर ट्रैक्टर चलाओ, मेरा बेटा आपको परेशान नहीं करेगा, शिकायत पर पिता-पुत्र के खिलाफ एसीबी में केस दर्ज

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार