मां ने बच्ची को जन्म देकर मरने के लिए बाड़े में फेंक दिया था, डीएनए टेस्ट के बाद महिला गिरफ्तार

 

 भीलवाड़ा बीएचएन। एक निर्दयी मां ने एक दिन की नवजात बच्ची को मौत देनी चाही, लेकिन वह नाकाम रही। इस बच्ची को जन्म देने वाली महिला से पुलिस ने पूछताछ की थी, लेकिन वे, बच्ची उसकी होने से इनकार करती रही। ऐसे में पुलिस ने डीएनए टेस्ट करवाया। रिपोर्ट आने पर पुलिस ने इस महिला को गिरफ्तार कर लिया।
कोटड़ी थाना प्रभारी गिरवर सिंह ने बीएचएन को बताया कि मानवता और इंसानियत को शर्मशार कर देने वाली यह घटना  2 जनवरी 2021 को सोडियास गांव से सामने आई थी। जहां गंगाधर सिंह के बाड़े में एक दिन की नवजात बालिका मिली । कड़ाके की ठंड के बीच अज्ञात कुमाता ने नवजात बच्ची को मरने के लिए झाडिय़ों में फेंक दिया था।पुलिस ने के बच्ची को हॉस्पिटल में भर्ती करवा दिया था। जहां से  उसे अजमेर रैफर कर दिया गया था। कोटड़ी थाना पुलिस ने अज्ञात कुमाता के खिलाफ  मामला दर्ज कर महिला की तलाश शुरू की।  उस समय सूचना के आधार पर सोडियास की महिला गायत्री उर्फ  गंत्री पुत्री भंवरलाल गुर्जर से पूछताछ की गई, मगर उसने यह नवजात बच्ची अपनी होने से साफ इनकार कर दिया था। ऐसे में पुलिस ने गायत्री और नवजात बच्ची के डीएनए सैंपल लिये, जिन्हें जांच के लिए एफएसएल भेजा गया था। 14 दिसंबर को एफएसएल से रिपोर्ट पुलिस को मिली। इस रिपोर्ट से साफ हो गया कि नवजात बच्ची की मां गायत्री ही थी। पुलिस ने आज कुमाता गायत्री को नवजात बालिका की हत्या के प्रयास और अरक्षित छोड़ देने  के अपराध में सोला का खेड़ा कोटड़ी से गिरफ्तार कर लिया गया।  

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

देवगढ़ से करेड़ा लांबिया स्टेशन व फुलिया कला केकड़ी मार्ग को स्टेट हाईवे में परिवर्तन करने की मांग

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार