सुभाष बहेडिय़ा के जन्मदिन पर भीलवाड़ा को मिले दो तोहफे, पुलिस के पहुंचने से मची अफरा तफरी

 

भीलवाड़ा (हलचल)। सांसद सुभाष बहेडिय़ा के जन्मदिन के मौके पर आज भीलवाड़ा को दो तोहफे मिले है। रेलवे स्टेशन पर दूसरा प्रवेश द्वार आज से शुरू हो गया जबकि भगवती लाल बहेडिय़ा सर्किल पर गोटे और धनुष बाण का लोकार्पण किया गया। 
सांसद सुभाष बहेडिय़ा के जन्मदिन पर आज रेलवे पटरी पार रेलवे स्टेशन के दूसरे प्रवेश द्वार का शुभारम्भ किया गया है। प्रवेश द्वार के साथ ही प्लेट फार्म नम्बर 1 व 4 के शेेल्टर का विस्तार, फुटओवरब्रिज का प्लेट फार्म 4 तक विस्तार व प्रतीक्षालय का लोकार्पण किया गया। लोकार्पण समारोह के मुख्य अतिथि सांसद सुभाष बहेडिय़ा थे। इस मौके पर विधायक विट्ठलशंकर अवस्थी, सभापति राकेश पाठक और मण्डल रेल प्रबधंक उत्तर पश्चिमी रेलवे अजमेर भी मौजूद थे। इस मौके पर ढाई करोड़ रुपए के विकास कार्यों का लोर्कापण किया गया। वहीं शहर के हृदय स्थल सूचना केन्द्र के निकट स्व.भगवती लाल बहेडिय़ा सर्किल का नगर परिषद ने नवीनीकरण वहां स्थापित किये गये गोटे और धनुष बाण का लोकार्पण सांसद सुभाष बहेडिय़ा, विधायक विट्ठलशंकर अवस्थी और सभापति राकेश पाठक ने किया। इस मौके पर बालाजी मंदिर के पुजारी पं.आशुतोष शर्मा ने विधिविधान के साथ पूजा अर्चना की। बाद में बालाजी मंदिर में सांसद सुभाष बहेडिय़ा ने अभिषेक किया। यहीं कार्यकर्ताओं ने उनका धूमधाम के साथ जन्मदिन मनाया। समर्थकों ने उन्हें मालाओं से लाद दिया। साफे पहनाये गये और बुके और गिफ्ट भेंट किये गये। मंदिर में ही जन्मदिन मनाने के दौरान विधायक विट्ठलशंकर अवस्थी और पं.आशुतोष शर्मा के साथ ही अन्य कार्यकर्ता ढोल की थाप पर थिरकते नजर आये। कार्यकर्ताओं ने सांसद बहेडिय़ा को जन्मदिन की बधाईयां दी। 
उद्घाटन के दौरान पहुंची पुलिस :
बहेडिय़ा सर्किल पर गोटे के लोकार्पण के दौरान वहां जमा भीड़ को पुलिस ने वहां से हटवा दिया और कार्यक्रम भी आनन फानन में किया गया। इसकी भी खासी चर्चा रही। सांसद की मौजूदगी में उद्घाटन के दौरान यह अफरा तफरी के पीछे क्या कारण रहा। इस दौरान सभापति पाठक और पुलिस उप अधीक्षक के बीच कहासुनी भी हुई है। 

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार