भीलवाड़ा के खिलाड़ियों ने अपने श्रैष्ठ प्रदर्शन से किया भीलवाड़ा का नाम देश में रोशन

 

 भीलवाड़ा BHN 

इलेवन इलेवन क्रिकेट फेडरेशन इन्डिया के तत्वावधान में तमिलनाडु इलेवन इलेवन क्रिकेट एसोसिएशन के द्वारा तमिलनाडु के सैलम शहर में आयोजित प्रथम जूनियर नेशनल इलेवन इलेवन क्रिकेट टूर्नामेंट में राजस्थान टीम के विजेता होकर भीलवाड़ा पंहुचने पर रोडवेज बस स्टैंड पर खिलाड़ियों के घर वालो प्रशंसकों तथा सैंकड़ों लोगों ने भावभीना स्वागत किया !

राजस्थान इलेवन इलेवन क्रिकेट एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष डॉ अशोक सोडाणी एवं प्रदेश महासचिव श्री सलीम रज़ा ने बताया कि राजस्थान टीम के खिलाड़ियों ने अपना बेहतरीन प्रदर्शन करके यह नेशनल खिताब राजस्थान के नाम किया ! प्रथम लीग मैच में राजस्थान तमिलनाडु से हारे, उसके पश्चात राजस्थान ने उत्तर प्रदेश को हराया, तीसरे मैच में झारखंड से जीत हासिल की, चौथे लीग मैच में बिहार को हराकर फाइनल में प्रवेश किया तथा फाइनल में तमिलनाडु को हराकर विनर रही एवं प्रथम स्थान प्राप्त किया। द्वितीय स्थान रनर‌अप तमिलनाडु तथा मध्य प्रदेश ने तृतीय स्थान प्राप्त किया!
राजस्थान इलेवन इलेवन क्रिकेट एसोसिएशन के प्रदेश सचिव  सलीम रज़ा  ने बताया कि इस जीत से राजस्थान भीलवाड़ा के क्रिकेट खिलाड़ियों को अन्तर्राष्ट्रीय टूर्नामेंट में मौका  मिलेगा !  17 सदस्यीय राजस्थान टीम  में भीलवाड़ा के खिलाड़ियों को पूर्ण नैतृत्व प्रदान किया गया है  - राजस्थान टीम कोच   शहनवाज खान ,  राजस्थान टीम कप्तान ईशान जगतियानी, उप कप्तान वासुदेव सिंह,  विश्वजीत शक्तावत, जोनू जाट, किशन माली , वंश वर्मा , कृष्णा नागा, रेहान काजी, अमित शर्मा, मनन जोशी, अमन ख़ान, सौरभ जाट,  भाविक बागेला, दिव्यांश खारोल, हर्षित सेन , एवं शैरेन वाल्टर !
इलेवन इलेवन क्रिकेट फेडरेशन इन्डिया के मुख्य संरक्षक डॉ एस पी मैसी, राष्ट्रीय अध्यक्ष  बी जे जॉनसन, राष्ट्रीय महासचिव   अर्जुन विश्वकर्मा, राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष श्री अरविन्द बंसल तथा तमिलनाडु इलेवन इलेवन क्रिकेट एसोसिएशन के श्री रंगनाथ ने राजस्थान प्रदेश अध्यक्ष डॉ अशोक सोडाणी, प्रदेश सचिव   सलीम रज़ा एवं राजस्थान टीम को शानदार जीत पर बधाई देते हुए उनके निरन्तर श्रेष्ठ प्रदर्शन की शुभकामनाएं दी!

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

देवगढ़ से करेड़ा लांबिया स्टेशन व फुलिया कला केकड़ी मार्ग को स्टेट हाईवे में परिवर्तन करने की मांग