शाहपुरा के जिला अस्पताल भवन के निर्माण की जांच में मिली खामियां खराब सामग्री को उखडवाया, एईएन को भी साइड से हटाया

 


शाहपुरा-मूलचन्द पेसवानी 
शाहपुरा के जिला अस्पताल में निर्माणाधीन भवन के निर्माण कार्य में घटिया सामग्री का उपयोग होने की जानकारी सामने आने के बाद मंगलवार को अजमेर से एनआरएचएम के अधिशाषी अभियंता की टीम ने मौके पर पहुंच कर जांच की तो कई खामियां पायी गयी। उन्होंने खराब सामग्री को मौके पर ही उखड़वा दिया तथा साइड पर लगे विभागीय एईएन को भी हटा दिया गया है। 
राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन के अधिशाषी अभियंता आरके संचेती मंगलवार को जिला चिकित्सालय के निर्माण की साइड पर पहुंचे। उन्होंने वहां चल रहे कार्य का बारीकी से निरीक्षण किया। उन्होंने फ्लोरिंग को खुदवाया तो देखा कि सीमेंट और कंक्रीट की जगह फ्लोरिंग में केवल मिट्टी भरी हुई थी। जिस पर उन्होंने नाराजगी जाहिर की तथा संवेदक के इंजिनियर को सभी फ्लोरिंग को खुदवाने के निर्देश देकर नये सिरे से कार्य करने को कहा। यह कार्य चार दिन में पूरा करने के निर्देश दिये। संचेती ने इस साइड पर विभागीय एईएन को भी लापरवाही बरतने पर साइड से हटाकर नये एईएन अंसारी को बुधवार से इस कार्य का सुपरवीजन करने के निर्देश दिये है। 
पत्रकारों से बात करते हुए अधिशाषी अभियंता ने कहा कि कार्य में गुणवत्ता की दृष्टि से कमियां पायी गयी है। संवेदक के इंजिनियर को कोताही न बरतने तथा नया कार्य चार दिन में पूरा करने के निर्देश दिये है। उन्होंने निर्माण कार्य की गुणवत्ता में सुधार के निर्देश दिये है। इस दौरान उन्होंने पीएमओ डा अशोक जैन से भी अपने स्तर पर जांच करने को कहा है। 
इस दौरान पूर्व पार्षद भगवान सिंह यादव ने भी मौके पर पहुंच कर अधिशाषी अभियंता से जी शिड्युल के अनुसार कार्य करने की मांग की। उन्होंने गुणवत्ता की जांच के लिए विभागीय एईएन को स्थायी रूप् से यहां लगाने की भी बात कही। 
उल्लेखनीय है कि सोमवार को भीलवाड़ा सीएमएचओ डा मुश्ताक खान ने शाहपुरा आए थे। इस दौरान उन्होंने जिला चिकित्सालय के नए भवन घटिया निर्माण सामग्री के उपयोग करने की शिकायत मिली। जिस पर उन्होंने पीएमओ डॉ. अशोक जैन तथा अन्य कार्मिकों को साथ लेकर के निर्माण स्थल पर पहुंचे। जहां उन्होंने फ्लोरिंग को खुदवाया तो देखा कि सीमेंट और कंक्रीट की जगह फ्लोरिंग में केवल मिट्टी भरी हुई थी। जिस पर उन्होंने नाराजगी जाहिर की तथा तुरंत राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन के सहायक अभियंता आरके संचेती को फोन करके गुणवत्ता हीन सामग्री के उपयोग की शिकायत की।

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

देवगढ़ से करेड़ा लांबिया स्टेशन व फुलिया कला केकड़ी मार्ग को स्टेट हाईवे में परिवर्तन करने की मांग

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार