होटल के बाहर अवैध रूप से खड़े 2 ट्रक हुए बरामद, गैस टंकी से भरे थे दोनो, अवैध फिलिंग का सामान हुआ बरामद

 


  अजमेर शहर से बड़ी खबर है । अजमेर में देर रात पुलिस ने और रसद विभाग की टीम ने हाइवे पर स्थित एक होटल के बाहर खड़े हुए ट्रक बरामद किए हैं। दोनों अलग-अलग गैस एजेंसियों के हैं। इन दोनों ट्रकों में 700 से ज्यादा गैस सिलेंडर बरामद किए गए हैं। इनमें से कुछ भरे हुए हैं और कुछ खाली है। साथ ही वजन तोलने के लिए कांटा और अवैध रूप से गैस के फिलिंग करने की जुगाड़ भी बरामद किए हैं। इतनी बड़ी कार्रवाई के बाद से अजमेर में हड़कंप मचा हुआ है।  दोनो ही ट्रक नामी गैस डिस्ट्रीब्यूटर कंपनियों के जिन दो गैस कंपनियों के यह दोनों ट्रक है, वह बड़ी कंपनियां है। अब उनके मालिकों से इस बारे में जांच पड़ताल की जा रही है। अजमेर की रसद विभाग के अधिकारियों ने बताया कि सराधना हाईवे के पास एक होटल के बाहर यह दोनों ट्रक खड़े थे। एक ट्रक इंडियन गैस एजेंसी का है, दूसरा ट्रक भारत गैस एजेंसी का है। रसद विभाग के अधिकारियों ने बताया कि दोनों ट्रक अपनी-अपनी गैस एजेंसी से 2 से 3 दिन पहले रवाना हुए थे, लेकिन इन्हें अजमेर में जहां गैस डिलीवर करनी थी वहां वे लोग नहीं पहुंचे।  अवैध लेनदेन का हो सकता है मामला दोनों ट्रक हाईवे पर एक होटल के बाहर खड़े हुए मिले। रसद विभाग की टीम ने यहां से करीब आधे भरे हुए और आधे खाली सिलेंडर के साथ ही फुल भरे हुए सलेंडर भी बरामद किए हैं। पुलिस का और रसद विभाग का मानना है कि यह अवैध लेनदेन का बड़ा मामला है। इस मामले में अब गैस एजेंसी के मालिकों से पूछताछ की जा रही है। एक व्यक्ति को पुलिस ने हिरासत में लिया है , एक व्यक्ति वहां से फरार हो गया।  उल्लेखनीय है कि पिछले महीने 8 तारीख को राजस्थान के जोधपुर शहर में सिलेंडरों के धमाके होने के बाद 35 लोग जिंदा जल गए थे। उसके बाद राजस्थान सरकार ने सभी जिलों के रसद विभाग अधिकारियों को यह निर्देश दिए थे कि वह अपने अपने इलाके में औचक निरीक्षण करें और गैस चोरी को पकड़े, ताकि अवैध तरीके से चल रहा पूरा खेल बंद किया जा सके। जोधपुर की इस घटना के बाद अजमेर, जोधपुर ,भरतपुर समेत कई शहरों में पुलिस और रसद विभाग की टीम ने मिलकर रेड की है।

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

मुंडन संस्कार से पहले आई मौत- बेकाबू बोलेरो की टक्कर से पिता-पुत्र की मौत, पत्नी घायल, भादू में शोक

जहाजपुर थाना प्रभारी के पिता ने 2 लाख रुपये लेकर कहा, आप निश्चित होकर ट्रैक्टर चलाओ, मेरा बेटा आपको परेशान नहीं करेगा, शिकायत पर पिता-पुत्र के खिलाफ एसीबी में केस दर्ज

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार