डेयरी दुग्ध उत्पाद की खरीद फरोख्त और भुगतान होगा स्मार्टफार्म्‍स एप से, कलक्टर ने किया लॉन्च

भीलवाड़ा (हलचल)। भीलवाड़ा डेयरी ने दुग्ध उत्पाद के लिए स्मार्टफार्म्‍स एप का आज जिला कलक्टर आशीष मोदी व राजस्व मंत्री रामलाल जाट ने शुभारम्भ किया । इस स्मार्ट एप से अब किसानों को सीधा भुगतान ही नहीं बल्कि खरीद फरोख्त का हिसाब किताब, गुणवत्‍ता की भी तत्काल जानकारी उपलब्ध होगी। कि‍सानों को बैंकों के चक्‍कर से मुक्‍ति‍ मि‍ल जाएगी।
भीलवाड़ा डेयरी ने आयोजित कार्यक्रम के दौरान स्मार्ट एप की जानकारी देते हुए बताया कि इस एप के जरिए दूध की खरीद, फेट और भुगतान की उसी दिन जानकारी मिल जाएगी और खाते में क्रेडिट हो जाएगी। यही नहीं किसानों द्वारा खरीदे गए डेयरी उत्पादों का इसी से हिसाब किताब होगा। भीलवाड़ा डेयरी और एवं स्टेलप्स टेक्नोलोजी प्रा.लि. के सहयोग से तैयार किये गए इस स्मार्टफार्म्‍स एप का शुभारम्भ आज जिला कलक्टर आशीष मोदी, राजस्व मंत्री रामलाल जाट, डेयरी के कार्यवाहक चेयरमेन गोपाल कुमावत के साथ ही अन्य सदस्यों ने किया। जिला कलक्टर मोदी ने कहा कि यह देश की भीलवाड़ा डेयरी है जिसमें इस तरह का नवाचार किया गया। इससे पारदर्शिता तो रहेगी साथ ही किसानों द्वारा दिए जा रहे दूध की गणवत्ता का भी पता चलेगा। वहीं डेयरी समितियों के सचिव भी किसी तरह की गड़बड़ी नहीं कर पायेंगे। उन्होंने बताया कि डेयरी का यह एप वर्तमान में 75 फीसदी सदस्यों तक पहुंच चुका है और 15 जनवरी तक सौ प्रतिशत सदस्यों तक जुड़ जाएगा। एमडी विपिन शर्मा ने बताया कि इस एप के जरिए नोटिफिकेशन की सुविधा भी उपलब्ध करवाई गई है जिससे डेयरी सदस्यों को किसी भी जानकारी से तत्काल अवगत कराया जा सकेगा।
इस मौके पर डेयरी के एल.के.जैन, अरविन्द गर्ग, जिला परिषद की सीईओ शिल्पा सिंह आदि भी मौजूद थे। 

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना