न्यायिक कर्मचारियों की दसवें दिन भी हड़ताल जारी

 

भीलवाड़ा (हलचल)। जयपुर में न्यायिक कर्मचारी सुभाष मेहरा की संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत के मामले में कार्रवाई की मांग को लेकर भीलवाड़ा के न्यायिक कर्मचारी दसवें दिन भी हड़ताल पर रहे और जुलूस निकालकर नारेबाजी कर विरोध जताया। न्यायिक कर्मचारी संघ ने पुलिस द्वारा कल मेहरा की मौत को आत्महत्या करार दिया गया है। जो गलत है। उन्होंने कहा कि मेहरा को घर से उठाकर न्यायाधीश के घर ले जाने से जांच शुरू होती है। न्यायाधीश के घर मेहरा की मौत हुई थी और इस पूरे मामले की निष्पक्ष जांच की जानी चाहिए। उन्होंने आरोप लगाया कि पुलिस प्रशासन न्यायिक अधिकारियों के दबाव में है। वहीं हम अपनी मांग पर अड़े रहेंगे। जब तक मेहरा को न्याय नहीं मिल जाता संघर्षरत रहेंगे। 

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार