सामुदायिक भवन की चारदीवारी निर्माण को लेकर दो पक्षों में विवाद, पथराव, मारपीट, सरपंच से की धक्का-मुक्की, क्रॉस केस दर्ज

 


 भीलवाड़ा बीएचएन। जिले के रूपाहेली खुर्द में सामुदायिक भवन की चारदीवारी निर्माण को लेकर  विवाद के चलते गुरुवार को झगड़ा हो गया। इस दौरान दोनों पक्षों के बीच पथराव, मारपीट व धक्का-मुक्की हुई। इससे सरपंच सहित एक पक्ष के 5, जबकि दूसरे पक्ष का एक व्यक्ति चोटिल हो गया।  रायला पुलिस ने परस्पर केस दर्ज कर जांच शुरु कर दी। 
रायला थाना प्रभारी सुनील चौधरी ने बीएचएन को बताया कि ग्राम पंचायत रुपाहेली खुर्द के सरपंच बालु भील ने थाने में रिपोटबर्् दी कि ग्राम पंचायत में विधायक मद से सामुदायिक भवन की चार दीवारी का निर्माण कार्य चल रहा हैं।  इस चार दीवारी निर्माण का कार्य आज से 6 माह पूर्व प्रारम्भ करवाया, परन्तु उस जमीन पर कब्जा करने की नियत से आये दिन रूपाहेली खुर्द के ही भरत सिंह राजपुरोहित और महावीर सिंह राजपुरोहित, विष्णु सिंह राजपुरोहित परिवादी सरपंच व निर्माण कार्य करने वाले श्रमिकों से अभद्रता करते हैं और उनको  गांव वालों ने समझाया कि यह सार्वजनिक जगह हैं, यहां काम पूरा होने दें। लेकिन  वे गांव वालों से भी नही माना। 15 दिसंबर को सरपंच बालु भील के साथ मौजूद  ग्रामीण विजेन्द्र सिहं पुत्र शिव सिंह, राजेन्द्र सिंह, दुर्गा सिंह, सत्यनारायण सुथार, रामप्रसाद माली, प्रहलाद लखारा सहित अन्य ग्रामीणों  पर जावलेवा हमले की नियत से पत्थरबाजी की। विजेन्द्र सिंह को पकड़कर उसके सिर में पत्थर मारा, जिससे वह घायल हो गया।  सरपंच के साथ भी धक्का मुक्की की  । सरपंच को जातिसूचक शब्दों से अपमानित किया। सरपंच ने पुलिस को दी रिपोर्ट में कहा कि वह,  दलित परिवार का सरपंच है। ये लोग उनसे गाली गलोच करते हैं ।  इन दबंगो पर  कार्यवाही कर  सुरक्षा सुनिश्चित करावें वरना इस भय के माहौल से  उसे यहां से पलायन करनें पर मजबूर होना पड़ेगा ।  
उधर, दूसरे पक्ष की ओर से भरत सिंह पुत्र मूल सिंह राजपुरोहित ने रिपोर्ट दी कि सुबह वह, बस स्टोप पर था । उसी समय शिवसिंह पुत्र नारायण सिंह निवासी रुपाहेली खुर्द उसे बस स्टोप से गाड़ी पर बैठाकर यहकहकर कि जमीन नापनी है, सामुदायिक भवन के पास ले गये । वहां  उसे मारने के लिए 10 से 15 आदमी  बुला रखे थे । उनमें से 8 आदमियों ने परिवादी पर हमला किया । उनके पास धारदार हथियार लाठी थी। परिवादी, जैसे-तैसे जान बचाकर भाग निकला।  हमला करने में  विजेन्द्र सिंह पुत्र शिव सिंह सहित अन्य लोग शामिल थ। हमले के कारण वह, बेहोश हो गया । भाई को सूचना मिली तो वह  हॉस्पीटल ले गया।  इलाज करावाया। परिवादी का आरोप है कि उसकी एक तोला सोने की चैन व कान की बाली भी लूट ली है। परिवादी का आरोप है कि श्मसान की  जमीन के विवाद को खूनी संघर्ष में बदल दिया गया।   पुलिस ने क्रॉस केस दर्ज कर जांच शुरु कर दी।

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार