सहारा से बेसहारा हुए लोग अब आन्दोलन की राह पर

 

भीलवाड़ा (विजय/सम्पत)। सहारा का भरोसा कर भीलवाड़ा ही नहीं देश भर के लोगों ने अपने भविष्य के सहारे के लिए अरबों रुपए सहारा इण्डिया में जमा करवाया है लेकिन वह सहारा नहीं बन पाई। लोगों को अपनी जमा राशि लेने के लिए भी न केवल भटकना पड़ रहा है बल्कि उनके कई सपने चकनाचूर हो गए है। 
सहारा इण्डिया में भीलवाड़ा के करीब 80 हजार लोगों ने अपने परिवार के भविष्य के लिए रुपए जमा कराए थे। किसी का सपना था कि उनके बेटे-बेटी की शादी अच्छे तरीक से होगी, किसी ने व्यापार के लिए दुकान का सपना संजोया था तो किसी ने अपने बच्चों की पढ़ाई की उम्मीद को लेकर सहारा का हाथ पकड़ा था लेकिन सहारा ने लोगों के सपनों को चकनाचूर कर दिया। वे अपनी जमा रकम के लिए सालों से भटक रहे है। 
संजय कॉलोनी में रहने वाली मंजू देवी माली ने अपने परिवार पर आने वाले संकट के लिए सब्जी बेचकर छोटी-छोटी पूंजी जमा की थी उसके करीब 25 हजार रुपए सहारा में जमा हुए है लेकिन 2016 में ही वह पैसों के लिए तरसती हुई इस दुनिया को अलविदा कह गई। माणिक्य नगर में रहने वाली देऊ जजावरा ने भी इसी तरह रुपए बचाए और सहारा में 75 हजार रुपए जमा किये। करीब दस साल पहले यह राशि मिलने वाली थी लेकिन अब तक 75 हजार रुपए नहीं मिल पाये। बैंक ब्याज से भी जोड़े तो यह राशि बढकर लगभग 2 लाख रुपए हो चुकी है। इसी तरह जिले भर के 80 हजार लोगों ने सहारा में रुपए जमा कर भविष्य के सपने देखे थे लेकिन उनके 4 हजार करोड़ रुपए अब डूबते नजर आ रहे है। इसी मुद्दे को लेकर आज भविष्य में राजनीति की पारी खेलने की तैयारी कर रहे एडवोकेट आजाद शर्मा के नेतृत्व में सहारा से जुड़े लोगों ने जिला कलक्टर कार्यालय पर प्रदर्शन किया। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ ही सहारा इण्डिया के खिलाफ नारेबाजी की। आजाद शर्मा ने कहा कि लोगों के करोड़ों रुपए डूबे है। सरकार को उनकी मदद के लिए आगे आना चाहिए। सहारा के खिलाफ ईडी की जांच होनी चाहिए। उन्होंने चेतावनी दी कि अगर जल्दी ही भुगतान नहीं हुआ तो व्यापक स्तर पर आन्दोलन किया जाएगा। 

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना