श्री कामधेनु बालाजी मंदिर मे आयोजित चैत्र नवरात्रि पर्व की पुणाहुति पर बगलामुखी महा अघोर हवन मे दी 325000 आहुतियाॅ

 

भीलवाडा,  कामधेनु बालाजी मंदिर मे आयोजित चैत्र नवरात्रि पर्व का समापन बगलामुखी महा अघोर हवन के साथ किया गया । आयोजन संयोजक दिनेश सेन ने बताया कि कोटा बाई पास रोड पर कोठारी नदी के किनारे स्थित प्राचीन धार्मिक स्थल श्री कामधेनु बालाजी मंदिर मे चैत्र नवरात्रि पर्व को महाकाल उपासक श्री विनोद कुमार शर्मा के सानिध्य मे बडी धूमधाम से मनाया गया जिसमे बाबा महाकाल उज्जैन एवं माॅ कामाख्या देवी आसाम की तर्ज पर नियमित हवन के साथ ही शहर मे पहली बार आयोजित बगलामुखी महा अघोर हवन मे 10 जोडो के साथ ही कुल 35 श्रृद्धालुओ द्वारा सर्व मंगल कामना एवं सर्व रोग दोष निवारण हेतु कुल 325000 आहुतियों के साथ पूर्णाहुति दी गई। 

महाकाल उपासक  विनोद कुमार शर्मा ने अघोर साधना के बारे मे जानकारी देते हुए बताया कि अघोर साधना एक प्रकार की तंत्र विद्या है जिसे सभी के कल्याण और बाधा निवारण के लिए उपयोग मे लिया जाता है और इस साधना का ध्येय वाक्य ही विश्वास से अंधविश्वास की ओर बढते हुए कदमों को रोकना है , इसलिए सभी को अघोरी साधु संतो  से डरने अथवा भ्रमित होने  की बजाय किसी भी प्रकार के अंधविश्वास से बचने की अपील की ।

नवरात्रि पर्व के इस आयोजन मे सुमंगल सेवा संस्थान के संस्थापक सदस्य  शिव नुवाल , बसंत कुमार भट्ट, ओम प्रकाश लड्ढा, बद्री लाल सोमानी, नरेन्द्र शर्मा, भवानी शंकर सेन, नरेन्द्र मिश्रा, तुलसीराम माली, मनोहर लाल सेन, रामेश्वरम ईनानी,  प्रवीण सिंह चौहान, सोनू माली, शुभम सेन, सौरभ सेन, सत्यनारायण मूंदड़ा, पुनीत प्रताप सिंह, करण सिंह, टीना सेन, ऊमा भट्ट,रौनक माहेश्वरी पंडित प्रदीप शर्मा सहित अनेक सदस्यो तथा स्थानीय निवासियों  द्वारा सहयोग किया गया।

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

देवगढ़ से करेड़ा लांबिया स्टेशन व फुलिया कला केकड़ी मार्ग को स्टेट हाईवे में परिवर्तन करने की मांग