भीलवाड़ा में चेटीचण्ड पर महामंडलेश्वर हँसराम करेंगे ध्वजारोहण

 

भीलवाड़ा मूलचन्द पेसवानी

सिंधी समुदाय के आराध्यदेव भगवान झूलेलाल के प्राकट्य दिवस के आगामी चेटीचण्ड महापर्व पर गुरूवार 23 मार्च को स्थानीय नई शाम की सब्जी मंडी स्थित झूलेलाल साहेब मंदिर में सुबह 10.15 बजे हरिशेवा उदासीन आश्रम सनातन मंदिर के महामंडलेश्वर स्वामी हँसराम उदासी संत-महात्माओं के साथ ध्वजारोहण करेंगे।
सिंधी समाज के प्रवक्ता मूलचन्द बहरवानी ने बताया कि इससे पूर्व मंदिर में बुधवार 22 मार्च को सुबह सवा 9 बजे शक्तिस्वरूपा माता दुर्गा के चेत्र नवरात्र के उपलक्ष में विभिन्न समाजजनों द्वारा सपत्नीक वैदिक मंत्रोच्चार के बीच घट स्थापना की जाएगी।
संस्थाध्यक्ष चेलाराम लखवानी के अनुसार गुरूवार 23 मार्च को सुबह से ही भगवान झूलेलाल की प्रतिमा का अभिषेक किया जाएगा।
झूलेलाल नवयुवक सेवा संस्थान के शेवाधारी अध्यक्ष हेमनदास भोजवानी के अनुसार ध्वजारोहण से पूर्व संत-महात्माओं के सानिध्य में समाजजनों द्वारा विधिवत पूजार्चना की जाएगी व ध्वजारोहण के पश्चात बहराणा साहब की स्थापना व ज्योति प्रज्ज्वलित की जाएगी। इसी दौरान महाआरती 
शेवाधारी सुरेश भोजवानी ने बताया कि मंदिर में स्थित भगवान झूलेलाल एवं महामाया दुर्गा की प्रतिमा पर रत्न-हीरे जड़ित मुकुट धारण करा प्रतिमाओं का विशेष पोशाक से श्रृंगार किया जाएगा। उत्सव को लेकर मंदिर को आकर्षक विद्युत बल्बों व अन्य सामग्री से सजाया जा रहा है।
शुक्रवार 24 मार्च को सुबह 9.15 बजे से मंदिर के शेवाधारियों का दल झांतला माता चित्तौड़, भादवा माता व मंदसौर के पशुपति मंदिर व सिंधु महल की धार्मिक यात्रा पर प्रस्थान करेगा।

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

मुंडन संस्कार से पहले आई मौत- बेकाबू बोलेरो की टक्कर से पिता-पुत्र की मौत, पत्नी घायल, भादू में शोक

जहाजपुर थाना प्रभारी के पिता ने 2 लाख रुपये लेकर कहा, आप निश्चित होकर ट्रैक्टर चलाओ, मेरा बेटा आपको परेशान नहीं करेगा, शिकायत पर पिता-पुत्र के खिलाफ एसीबी में केस दर्ज

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार