पद्मिनी क्लब ने मनाया वूमंस डे

 


भीलवाड़ा -वूमंस डे के उपलक्ष पर पद्मनी क्लब की संरक्षिका स्नेहलता धारीवाल, मधु जाजू और कल्पना माहेश्वरी जी सम्मान किया गया और उनसे महिलाओं के विकास, सम्मान और महिलाओं के और अन्य, समस्याओं पर चर्चा की गई। वूमंस डे के साथ ही सभी महिलाओं ने मिलकर होली भी खेली ओर होली के गीत भी गाए, नृत्य भी किए और सभी महिलाओं ने मिलकर आपस में एक दूसरे का हाथ पकड़कर साथ चलने का और एक दूसरे का साथ देने का वादा भी किया।
            क्लब की चेयरपर्सन कल्पना माहेश्वरी ने क्लब की सभी पदाधिकारियों का माला और गजरा पहना कर अभिनंदन, स्वागत किया। क्लब की अध्य्क्ष सीमा सोमानी ने सभी मेम्बेर्स को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं दी और बहुत बहुत बधाईया भी दी।
            क्लब की अध्यक्ष सीमा सोमानी ने बताया कि भारतीय संस्कृति में महिलाओं के सम्मान को बहुत महत्व दिया गया है। भारत में महिला को देवी के समान माना जाता है। संस्कृत में एक श्लोक है- ‘यस्य पूज्यंते नार्यस्तु तत्र रमन्ते देवतारू। यानि कि जहां नारी की पूजा होती है, वहां देवता निवास करते हैं। आज महिलाओं के प्रति लोगों की सोच में थोड़ा सा बदलाव आया है। लोग अपने घर की बेटियों और बहुओं की शिक्षा के लिए आगे बढ़ा रहे हैं। नारी केवल एक घर की नहीं बल्कि देश की शान होती है। पहले की तुलना में महिलाएं आज ज्यादा सक्षम है। अब महिलाएं अपने अधिकारों का सही इस्तेमाल करना जानती है। आज हर क्षेत्र में महिलाओं की उपलब्धियां गिनाई जा सकती है। उनकी इन्हीं उपलब्धियों को और अबला से सबला बनने की सशक्त भावना को सेलिब्रेट करता है अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस का इतिहास बहुत पुराना है। विश्वभर में हर साल 8 मार्च को अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस मनाया जाता है। इस दिन सभी महिलाएं एक-दूसरे को नारी दिवस की शुभकामानाएं देती हैं और गर्व महसूस करती हैं कि वो एक महिला हैं। ओर इसके साथ ही वो एक गौरवान्वित भारत देश की महिला है जहाँ हर एक त्योहारों पर महिलाओं को पूजा जाता है। कार्यक्रम के अंत में क्लब अध्यक्ष सीमा सोमानी ने सभी का आभार व्यक्त किया।

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

डॉक्टरों ने ऑपरेशन के जरिये कटा हुआ हाथ जोड़ा